Cg News Hindi today छत्तीसगढ़ न्यूज़

Cg News गांव वालों ने चंदा कर बनाई झोपड़ी और पांच कक्षा की हुई शिक्षा संचालित

Cg news hindi. छत्तीसगढ़। मामला ग्राम घुमरापदर के ग्राम माकरखलिया गांधीनगर का है जहां आदिवासियों ने पैसा चंदा कर गांव में ही झोपड़ी बनाकर स्कूल संचालित कर डाली।

विकासखण्ड के ग्राम पंचायत घुमरापदर के आश्रित ग्राम माकरखलिया गांधीनगर जंगल के भीतर बसा है, यहा निवास करने वाले विशेष पिछड़ी जनजाति कमार एवं आदिवासियों ने अपने बच्चों को पढ़ाने के लिए झोपड़ी बनाई है। इसे बनाने के लिए यहां निवास करने वाले लोगों ने आपस में चंदा किया है।

ग्रामीण इस झोपड़ीनुमा स्कूल में कुल 32 छात्र- छात्राओं को शिक्षा देने के लिए स्वयं के खर्च पर एक प्राइवेट शिक्षक को भी रखा है। ग्रामीण बच्चों को मध्याह्न भोजन भी अपने खर्चे पर दे रहे हैं।
मैनपुर विकासखण्ड से लगभग 65 किलोमीटर दूर ग्राम पंचायत घुमरापदर का आश्रित ग्राम जो कि वहां से तीन किमी दूर जंगल के भीतर ओडिशा सीमा से लगा माकरखलिया है।

ग्राम के निवासियों द्वारा अपने बच्चों को पढ़ाने के लिए स्कूल की मांग करते-करते थक चुके थे, लेकिन इनकी मांगों के तरफ ध्यान नहीं दिया गया। प्रशासन द्वारा ध्यान
नहीं देने पर ग्रामीणों ने स्वयं चंदा कर एक ने झोपड़ीनुमा मकान बनाकर वहां कक्षा पहली से पांचवीं तक की कक्षा संचालित कर रहे हैं। इन बच्चों को पढ़ाने के लिए ग्रामीणों स्वयं के खर्च से एक शिक्षक की भी व्यवस्था की है। मध्याह्न भोजन भी दे रहे हैं। हालांकि स्कूल का नाम शासन प्रशासन के रिकार्ड में नहीं हैं। ग्राम के वरिष्ठ एवं समिति के अध्यक्ष सुकलाल सोरी, ग्रामीण भजन मरकाम, नारायण सोरी ने बताया कि गांव में स्कूल की मांग को लेकर गरियाबंद जिले के प्रभारी मंत्री अमरजीत भगत एवं स्कूल शिक्षा मंत्री प्रेमसाय टेकाम से मुलाकात की थी, परंतु कोई नतीजा नहीं निकला।

स्कूल के सामने मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री की तस्वीर लगवाई ग्राम छोटे डोंगरी माकरखलिया गांधीनगर के ग्रामीण 23 मई 2022 से इस विद्यालय का संचालन कर रहे हैं। स्कूल के सामने मुख्यमंत्री भुपेश बघेल एवं स्कूल शिक्षा मंत्री प्रेमसाय टेकाम की तस्वीर भी फ्लैक्स में
बनवाकर लगवाई है। स्कूल में पहली से लेकर पांचवीं तक के 30-32 छात्र-छात्राएं अध्ययनरत है।

ज्ञात हो कि कुछ माह पूर्व ग्रामवासियों ने स्वयं के खर्च पर गांव में भारतमाता एवं देश के पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी की प्रतिमा भी लगवाई थी। बकायदा कांग्रेस नेताओं से इस प्रतिमा का अनावरण करवाया था। गणवेश व किताबें भेजी ग्रामीणों के माध्यम से पता चला है कि माकरखलिया गांधीनगर में ग्रामीणों द्वारा स्कूल का संचालन किया जा रहा है। पता चलते ही सबसे पहले वहां अध्यनरत छात्र- छात्राओं को गणवेश एवं पुस्तक विभाग द्वारा दिया गया है। साथ ही एक शिक्षक की भी व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने कहा कि ग्रामीणों की मांग पर स्कूल खोलने के लिए शासन स्तर पर कार्यवाही की जाएगी। करमन खटकर, जिला शिक्षा अधिकारी, गरियाबंद

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker