Festival त्योहार

pola kab hai 2022 पोला त्यौहार कब है | pola festival

बैल पोला त्यौहार pola festival

पोला त्यौहार pola tyohar भाद्रपद मास कृष्ण पक्ष की अमावस्या को मनाई जाती है अर्थात हिंदी पंचांग अनुसार अगस्त के महीने में मनाया जाने वाला पर्व है।

बैल पोला त्यौहार पारंपरिक ढंग से मनाया जाने वाला त्यौहार है अधिकतर यह त्यौहार छत्तीसगढ़ महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश राज्य में मनाया जाता है।

पोला त्यौहार को पिठोरी अमावस्या के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि पोला त्यौहार प्रतिवर्ष भाद्रपद शुक्ल पक्ष अमावस्या तिथि को ही मनाई जाती है।

पोला त्यौहार कैसे मनाते हैं

Pola festival सादगी से मनाया जाने वाला पर्व त्योहार है, इस दिन किसान एवं मजदूर अपने सारे कार्य को छोड़कर बैल की पूजा करते हैं।

बैल पोला त्यौहार के दूसरे दिन गांव के झांकर बैगा घर घर जाकर धान की बाली द्वारा अंगना में बांधते हैं और सुख शांति की आशीर्वाद प्रदान करते हैं। गांव के लोग झांकर बैगा को चावल अन्य पैसा दान करते हैं।

पोला त्यौहार pola festival की खास बात यह भी है कि बच्चे गेड़ी ( बांस से बनी खेल की वस्तु ) की भी पूजा कर इस दिन गेड़ी तोड़ते हैं। बच्चों को गेड़ी खेलने चढ़ने में बहुत आनंद आता है।

गेड़ी चढ़ने का खेल हरेली त्यौहार से आरंभ होती है हरेली त्यौहार के दिन से लोग बांस से गेड़ी बनाकर गेड़ी खेलने का आरंभ करते हैं।

pola festival in chhattisgarh पोला त्यौहार किन राज्यों में मनाया जाता है

pola tyohar पोला त्यौहार अधिकतर छत्तीसगढ़ राज्य में मनाया जाता है उसके साथ साथ महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश राज्यों में भी बैल पोला त्यौहार मनाया जाता है।

pola kab hai 2022 पोला कब है

pola festival 2022 में 27 अगस्त दिन शनिवार पिठौरी अमावस्या को मनाया जाएगा।

पोला की हार्दिक शुभकामनाएं

pola tyohar पोला त्यौहार को लोग बैल पोला इमेज के साथ पोला त्यौहार की हार्दिक शुभकामनाएं भेजते हैं और एक दूसरे को pola festival की हार्दिक शुभकामनाएं देते हैं।

पोला त्यौहार क्यों मनाया जाता है?

पोला त्यौहार किसानों एवं मजदूरों का त्यौहार है अधिकतर किसान वर्ग के लोग इस पर्व को मनाते हैं कथा खेती किसानी में सर्वाधिक काम आने वाली पशु बैल जिसका उपयोग खेती कार्य में किया जाता है, किसान अपने बैल को अपना जीवनसाथी मानते हैं और बैल पर श्रद्धा रखकर उनकी पोला त्यौहार पर पूजा की जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker